उत्तर प्रदेशलखनऊ

सरोजनीनगर विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी के जमीनी नेताओं की दावेदारी

राहुल तिवारी

लखनऊ। सरोजनीनगर में वर्तमान बीजेपी विधायक से क्षेत्रीय लोगों की नाराजगी किसी से छिपी नही है, लोगों की मांग है कि बीजेपी को अगर सरोजनीनगर कि सीट चहिये तो उसे इस बार क्षेत्रीय और जमीन से जुड़े नेता पर ही दांव लगाना होगा। अगर बात क्षेत्रीय और जमीन से जुड़े नेताओ की बात की जाए तो उसमें राजेन्द्र सिंह राजू, राजकुमार सिंह चौहान और राजेश सिंह चौहान के नाम प्रमुख हैं।

सबसे पहले लखनऊ की सरोजनीनगर विधानसभा क्षेत्र के अमांवा गाँव निवासी कुंवर राजेन्द्र सिंह चौहान की बात करते हैं, राजू भैया जो सरोजनीनगर विधानसभा में सबसे कर्मठ और निष्ठावान कार्यकर्ता के तौर पर जनता के बीच जाने जाते हैं कुंवर राजेन्द्र सिंह चौहान की शिक्षा एम काम एल टी है और पेशे से अध्यापक है कुंवर राजेन्द्र सिंह चौहान राजू ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं भारतीय जनता पार्टी में लगातार 37 वर्षों से संगठन का कार्य करते हुए तमाम दायित्वों का भी निर्वाहन किया और सरोजनीनगर विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी से टिकट के लिए मजबूत दावेदारी कर रहे हैं और जनता ने भी यह मन बनाया है कि अगर इस बार भारतीय जनता पार्टी क्षेत्रीय कार्यक्रता को टिकट देगी तो चुनाव में जीत जरूर भारतीय जनता पार्टी की होगी अन्यथा बाहरी प्रत्याशी को बिलकुल भी नहीं वोट दिया जायेगा।

कुंवर राजेन्द्र सिंह राजू 1984 से लेकर 1998 लगभग 15 वर्षों तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में खंड कार्यवाहक सरोजनीनगर, तहसील कार्यवाहक काकोरी एवं लखनऊ जिले के सम्पर्क प्रमुख के रूप में भी कार्य किया है इसके अलावा 1999 से 2002 तक भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा में जिला उपाध्यक्ष के रूप में भी कार्य किया है। 2002 से 2019 तक भारतीय जनता पार्टी में जिला कमेटी मे तीन बार महामंत्री के पद पर और दो बार लखनऊ भारतीय जनता पार्टी के जिला उपाध्यक्ष के पद पर कार्य किया यही नहीं सरोजनीनगर के इस कार्यकर्ता/नेता ने विभिन्न विधानसभाओं में विधानसभा प्रभारी लगातार पांच बार तीन बार संयोजक तथा जिला संयोजक शिक्षक एमएलसी चुनाव 2021 में भारी मतों से जिताने का कार्य किया।

इतना ही नहीं राजू भैया ने अब तक पार्टी के सैकड़ों विभिन्न अभियानों व कार्यकमो में मंडल, विधानसभा एवं जिला स्तर पर संयोजक, प्रभारी एवं प्रमुख के रूप में अभियानों को सफल बनाने का कार्य किया वहीं देश की आज़ादी के बाद 1948 में प्रथम गांधी आदर्श विद्यालय अमांवा में खोलकर क्षेत्र में शिक्षा की ज्योति जलाकर सारे क्षेत्र को शिक्षित बनाने का कार्य किया जिसमें अब तक 85 हजार छात्र/छात्राएं विद्या अध्ययन कर लाभान्वित हो चुके हैं। अगर ऐसे पार्टी के कार्यक्रता को भारतीय जनता पार्टी टिकट देती है तो सीट अवश्य निकल सकती है अन्यथा राम भरोसे। लेकिन शायद भारतीय जनता पार्टी में कार्यकर्ताओं की भारी उपेक्षा इस बार 2022 में अपना असर जरूर दिखायेगी। वहीं इस सरोजनीनगर विधानसभा क्षेत्र में क्षेत्रीय नेताओं में हरौनी निवासी पूर्व जिला पंचायत सदस्य राजेश सिंह चौहान, बनी गाँव निवासी राजकुमार सिंह चौहान, शहरी क्षेत्र में गोविन्द पांडे भी भारतीय जनता पार्टी से टिकट के प्रबल दावेदार है।

Related Articles

Back to top button
Close