उत्तर प्रदेशब्रेकिंग न्यूज़लखनऊसमग्र समाचार

सरोजनीनगर में भ्रष्ट अफसरों ने अहिमामऊ में अवैध पट्टे की जमीन को बना दिया संक्रमणीय

जमीन का पट्टा पत्रावली नही है स्वीकृति, और चढ़ा दिया खेतौनी मे

लंबे समय से तहसील में जमे अफसरों व बाबुओं का बड़ा कारनामा

राहुल तिवारी

लखनऊ। राजधानी की सरोजनीनगर तहसील में इस समय लेखपाल से लगाकर कानून गो तक व बाबू से लगाकर अधिकारी तक आकंठ भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं, इस सरोजनीनगर तहसील में काफी लम्बे समय से जमे लेखपाल हटने का नाम तक नहीं ले रहे हैं और जिलाधिकारी लखनऊ भी इस ओर जरा सा भी ध्यान नही दे रहे हैं। आखिर ध्यान देगें भी क्यों क्यों कि जिलाधिकारी लखनऊ अभिषेक प्रकाश स्वयं 5 वर्षों से सरकार व नियुक्ति विभाग की अनुकम्पा से जमे हुए हैं। जो ग्राउंड पर भी बिलकुल नही दिखाई देते हैं। बता दे सरोजनीनगर तहसील के अफसरों का बड़ा कारनामा निकल कर आया है जहाँ अफसरों ने अहिमामऊ में अवैध पट्टे की जमीन को संक्रमणीय बना दिया जिसकी पट्टा पत्रावली तक स्वीकृति नहीं है और जमीन को खेतौनी में चढ़ा दिया।

जिससे करोड़ों की जमीन की लूट हुई जिसमें सरोजनीनगर तहसील के तहसीलदार विजय प्रकाश सिंह ने अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज करवाया है। बता दे कि तहसील के अफसरों ने कूटरचित करके करोड़ों की जमीन हड़प ली है। यह खेल किसी और का नहीं बल्कि एसडीएम न्यायिक देवेंद्र कुमार, कानूनगो जितेंद्र सिंह खेला है वहीं जिला प्रशासन दिखावटी एफआईआर कराकर अपने अफसरों को बचा रहा है। यह हेराफेरी विवेकानंद डोबरियाल जिसको एस टी एफ ढूंढ रही शायद उसी के कहने पर होती थी।

Related Articles

Back to top button
Close