उत्तर प्रदेशखेती किसानीब्रेकिंग न्यूज़राज्यरोजगारलखनऊ

मोहम्मदी सरायं में किसान उद्यमी गोष्ठी का आयोजन किया

प्रधानमंत्री खाद्य प्रसंस्करण एवं उन्नयन योजना के तहत सरकार 35 प्रतिशत की सब्सिडी उद्यमियों को दे रही है ताकि गांव गांव लघु एवं कुटीर उद्योगों की स्थापना की जा सके और लोगों को स्वरोजगारी बनाया जा सके

लखीमपुर खीरी: रूरल बिज़नेस हब ने मोहम्मदी के गांव मोहम्मदी सरायं में किसान उद्यमी गोष्ठी का आयोजन किया। इस बैठक में जिला उद्यान अधिकारी मृत्युंजय सिंह, राहुल सचान, राष्ट्रीय संयोजक गौरव कुमार गुप्ता सहित कई अधिकारियों, किसानों और उद्यमियों ने भाग लिया। राष्ट्रीय संयोजक ने गाय, ग्रामीण संसाधन और आधुनिक तकनीक के आधार पर किसानों की लागत मूल्य कम करने, जीरो बजट प्राकृतिक खेती करने के फायदे बताएं और सैटेलाइट के माध्यम से मृदा परीक्षण और ड्रोन, सोलर पॉवर ट्रॉली के बारे में बताया। किसान की आमदनी दोगुनी करने के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के साथ साथ किसानों को आधुनिक तकनीक के उपयोग से अपनी फसल लागत मूल्य में कटौती करने का उपाय भी करना चाहिए। जिला उद्यान अधिकारी मृत्यंजय सिंह से सरकारी सब्सिडी पहले आवक पहले पावक के आधार पर लाभान्वित होने के लिए, पर ड्राप मोर क्रॉप नीति के तहत बून्द बून्द सिंचाई, संरक्षित खेती के लिए पॉलीहाउस का निर्माण, लहसुन, टमाटर आदि की खेती का सुझाव दिया। श्री सिंह ने बताया प्रधानमंत्री खाद्य प्रसंस्करण एवं उन्नयन योजना के तहत सरकार 35 प्रतिशत की सब्सिडी उद्यमियों को दे रही है ताकि गांव गांव लघु एवं कुटीर उद्योगों की स्थापना की जा सके और लोगों को स्वरोजगारी बनाया जा सके। रूरल बिज़नेस हब के ब्लॉक सह संयोजक वासिफ अली ने बिचौलियों से सावधान रहने और फसलों की अच्छी कीमत पाने के लिए किसानों को गुर सिखाए। इस गोष्ठी में ग्राम प्रधान मो ताहिर, किसान हनीफ खान, लुकमान खान, राम प्रताप सिंह, धर्मेंद्र सिंह बराड़, मसी हज़्ज़ाम, राजीव शुक्ला, मज़हर खां, हबीब अली समेत सैकड़ों किसान उद्यमी मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
Close