उत्तर प्रदेशधर्मपंजाबमनोरंजनराज्यलखनऊविश्वसमग्र समाचारसाक्षात्कार

परिक्रमार्थी पहुंचे नवें पड़ाव स्थल नैमिषारण्य

आज कोल्हुआ बरेठी पहुंचेंगे परिक्रमार्थी
पुष्प वर्षा कर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने परिक्रमार्थियों का किया स्वागत
चित्र परिचय-पड़ाव स्थल पर विश्राम करते परिक्रमार्थी।
नैमिषारण्य/गोंदलामऊ/सीतापुर। अखंड राम नाम जयकारे के साथ 84 कोसी परिक्रमा का रामादल बुधवार की भोर नैमिषारण्य पहुंच गया। अपने 9 वें पड़ाव पर साधु संतों ने नैमिषारण्य के विभिन्न मठ मंदिरों के दर्शन किए। मां ललिता देवी में प्रसाद चढ़ाकर अपनी मन्नतें मांगी। मां गोमती व चक्रतीर्थ में डुबकी लगाकर मोक्ष की कामना की। इस पड़ाव पर परिक्रमार्थी रात भर रुककर भजन कीर्तन करेंगे। गुरुवार सुबह अगले पड़ाव कोल्हुआ बरेठी को प्रस्थान करेंगे। बुधवार भोर सुबह चार बजे से ही नैमिषारण्य तीर्थ में रामादल के परिक्रमार्थियों का आगमन शुरू हो गया था। इस परिक्रमा पथ पर कई परिक्रमार्थी कीर्तन सुमिरन करते हुए पैदल यात्रा कर रहे थे। बड़ी संख्या में श्रद्धालु साइकिल, मोटर साइकिल पर बैठकर यात्रा के आनंद में खोए से दिखेे।

ट्रैक्टर और बैलगाड़ी से भी श्रद्धालु नैमिषारण्य तीर्थ में पहुंचकर जल्द ही स्नान और पूजन का क्रम शुरू करने को उत्सुक दिख रहे थे। नैमिष तीर्थ में परिक्रमार्थियों ने खुले मैदान, धर्मशालाओं, बाग बगीचों, तीर्थ पुरोहितों व संत महात्माओं के आश्रमों में डेरा डाला। परिक्रमार्थियों ने पूरे दिन राम नाम का जयकारा लगाते हुए ऋषियों की भूमि में तीर्थ की पवित्र नदी गोमती और चक्रतीर्थ में स्नान पूजन करके दान किया। उसके बाद नैमिष तीर्थ स्थित मां ललिता देवी मंदिर, व्यास गद्दी, सूत गद्दी, नैमिष नाथ, हनुमान गढ़ी, देवदेवेश्वर, देवपुरी, बाला जी, सत्यनारायण सन्निधि मंदिर, कालीपीठ आदि धार्मिक स्थलों का दर्शन पूजन किया। इस दौरान पूरे नैमिष में परिक्रमार्थियों के छोटे-छोटे टेंट झोपड़ी का नजारा काफी आकर्षक लग रहा था।

नैमिष में रामादल यात्रा के दौरान जहां कई जगह परिक्रमार्थियों द्वारा चूल्हे पर भोजन बनाने का दौर जारी था। वहीं तीर्थ में ही कई आश्रमों मंदिरों में भी भंडारे का भी अनवरत दौर जारी रहा। नीलकंठ आश्रम, परिक्रमा मार्ग स्थित कई आश्रमों सहित नैमिष में अनेक स्थानों पर प्रसाद वितरण हुआ। नैमिष तीर्थ में चक्रतीर्थ प्रांगण, रामानुजकोट मंदिर, बाला जी मंदिर समेत कई मंदिर मठों में विशिष्ट धार्मिक अनुष्ठानों का भी दौर चलता रहा।

आज कोल्हुआ बरेठी को पहुंचेंगे श्रद्धालु
रामादल यात्रा के नवें पड़ाव नैमिषारण्य तीर्थ से शनिवार को 10 वें पड़ाव स्थल कोल्हुआ बरेठी को पहुंचेंगे। इस यात्रा के दौरान परिक्रमार्थी व्यास गद्दी, मनु सतरूपा, तपस्थान, ब्रम्हावर्त, दशाश्वमेघ घाट, हनुमान गढ़ी, पंच पांडव, यज्ञवाराह कूप, गंगोत्री, लक्ष्मीनारायण, नरसिंह, कुरुक्षेत्र, हंस हंसिनी, पुष्कर तीर्थ, कालीदाह, गोवर्धन, गोकुल, मथुरा, वृंदावन, नंदगांव, देवदेवेश्वर, सेतुबंध रामगंगा, विष्णु पर्वत, रुद्रावर्त, गुप्त काशी, रुद्र प्रयाग, देवप्रयाग, लोधेश्वर, त्रियुगी नारायण, केदारनाथ, बद्रीनाथ, तुंगनाथ, बृहस्पति तीर्थ प्रयाग, हनुमान तीर्थ व चित्रकूट का दर्शन प्राप्त करेंगे।

मुस्लिम समाज ने किया परिक्रमार्थियों का स्वागत
नैमिषारण्य-मिश्रिख की धार्मिक 84 कोसीय परिक्रमा कर रहे परिक्रमार्थीयो का स्वागत औरंगाबाद में पुष्प वर्षा के साथ मुस्लिम समाज के लोगों द्वारा किया गया। नैमिषारण्य पहुंचनेे के पहले ग्राम औरंगाबाद में हिमांशु राज पांडे के नेतृत्व में मुस्लिम समाज के द्वारा संतो महात्माओं एवं श्रद्धालुओं पर पुष्प वर्षा की गयी व माल्यार्पण करते हुए फलो का वितरण भी किया गया। परिक्रमार्थियो के स्वागत में शादाब कुरेशी, हाजी मोहर्रम अली, गाजी हाजी ललन कुरेशी, रेनू बेग, किफायत अली, अच्छे मियां, अमीक खान, अब्दुल सलाम, अब्दुल अकरम, सत्तार अंसारी सहित भारी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
Close