उत्तर प्रदेशलखनऊ

नौकरी मांगने के बजाए देने वाला बने युवा : डा0 पूनम सिन्हा

संकल्प योजना के तहत आयोजित इडीपी प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन समारोह

 

लखनऊ। भारत सरकार के कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय द्वारा संचालित राष्ट्रीय उद्यमिता एवं लघु व्यवसाय विकास संस्थान (निसबड) की निदेशक डा0 पूनम सिन्हा ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा दर्जनों व्यवसायिक प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किये जा रहे है।

इसलिए युवतियों को चाहिए कि वह इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग लेकर अपना व्यवसाय शुरू करे और नौकरी मांगने के बजाए देने वाला बने। डा0 सिन्हा शनिवार को कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय की संकल्प योजना के तहत सरोजनीनगर के सहयोग परिवार परिसर में आयोजित उद्यमिता विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रतिभागियों को सम्बोधित कर रही थी।

इस मौके पर डा0 सिन्हा ने कहा कि आज के दौर में परिवार की एक सदस्य की कमाई परिवार की आर्थिक तरक्की होना संभव नही है। महिलाएं घर पर ही अपना व्यवसाय शुरू कर सकती है। इस मौके पर निसबड के मुख्य सलाहकार प्रदीप कुमार अरोड़ा ने कहा कि महिलाएं अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए मुद्रा योजना के तहत लोन ले सकती है।

इस योजना के तहत बैंको से दिये जाने वाले लोन के लिए किसी प्रकार की गारण्टी नही देनी होती है। श्री अरोड़ा ने इस मौके पर प्रतिभागियों को व्यवसाय शुरू करने से पहले की जाने वाले बाजार सर्वेक्षण सहित अन्य पहलुओं की जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन सहयोग परिवार के अध्यक्ष राज किशोर पासी ने किया। जबकि सीड की अध्यक्ष गीता ने अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त किया।

Related Articles

Back to top button
Close