उत्तर प्रदेशब्रेकिंग न्यूज़भविष्य के नेताराजनीतिराज्यलखनऊसमग्र समाचार

लोक भारती हरियाली अभियान, वृहद उत्तम नगर और उत्तम ग्राम अभियान से बढ़ेगा स्वरोजगार और बढ़ेगी किसानों की आय

मोहम्मदी विधानसभा क्षेत्र के18 ग्राम पंचायतों (रविन्द्र नगर, राजपुर वैनी, गुलौली, मझिगवां, सुंदरपुर, बौधि खुर्द, रामपुर मिश्र, सुखवसा, बड़खर, सरौनिया, गोकन, निजामपुर, छपौरा, सहिजना, पसगवां, जमीरहा, मछला, शाहपुर राजा) को उत्तम गांव बनाने की पहल

मोहम्मदी: पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्यरत संगठन लोकभारती ने प्रदेश के तीन नगर बांदा लखनऊ और मोहम्मदी को उत्तम नगर बनाने हेतु चयनित किया है इस संबंध में आज रूरल हब के प्रधान कार्यालय पर उत्तम नगर बनाने और विधानसभा क्षेत्र के 18 ग्राम पंचायतों (रविन्द्र नगर, राजपुर वैनी, गुलौली, मझिगवां, सुंदरपुर, बौधि खुर्द, रामपुर मिश्र, सुखवसा, बड़खर, सरौनिया, गोकन, निजामपुर, छपौरा, सहिजना, पसगवां, जमीरहा, मछला, शाहपुर राजा) को उत्तम गांव बनाने के लिए बैठक हुयी। इस बैठक में रूरल हब के संस्थापक गौरव कुमार गुप्ता ने बताया कि उनकी संस्था का उदेश्य गांव स्तर पर स्वरोजगार बढ़ाने, जैविक खेती और बागवानी को बढ़ावा देने हेतु एकीकृत खेती, सोलर एनर्जी की स्थापना, टिश्यू कल्चर जैसी आधुनिक तकनीक से लुप्तप्राय प्रजाति की पौध तैयार करने का कार्य करती है, जिससे गाँव में स्वरोजगार बढ़ेगा, फसलों की लागत मूल्य कम होगी और किसानों की आमदनी बढ़ेगी। रूरल हब गाय, ग्रामीण संसाधन औऱ आधुनिक तकनीक के आधार पर प्रत्येक ब्लॉक में 2000 उद्यम लगवाने हेतु सभी सेवाएं एकल खिड़की में उपलब्ध कराती है। इस योजना से गांव स्तर और ब्लॉक स्तर पर लोग जुड़ रहे है, जो स्टार्टअप योजना सहित केंद्र व राज्य की कई योजनाओं का लाभ भी ले रहे है। संस्था अभी 43 जिलों में कार्यरत है।
लोक भारती के वृहद उत्तम नगर अभियान हेतु संस्था का लक्ष्य है कि गांव, कस्बा और नगर के सभी लघु व कुटीर उद्योगों का सोलरीकरण किया जाये ताकि प्रदूषण नियंत्रण किया जा सके और डीजल की खपत कम होने के कारण उद्यमियों की आय को बढ़ाया जा सके। क्षेत्र के आम व अमरूद के बागों में अदरख, फर्न, जिमीकंद, हल्दी और कालीमिर्च की खेती के माध्यम से खाली पड़े संसाधनों का उपयोग कर आमदनी बढ़ाने, जैविक उर्वरकों का निर्माण और उत्पादों का जैविक प्रमाणीकरण करने और एक गौ चिकित्सा विज्ञान केंद्र खोलने का प्रयास शामिल हैं।

ब्लॉक प्रमुख महेंद्र बाजपेई ने बताया कि रूरल हब की तकनीकी सलाहकार सेवा से ब्लॉक कार्यालय पर जल संरक्षण के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग और सोलर प्लांट लगाने, गांव के सचिवालयों पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग और सोलर प्लांट लगाने हेतु कार्य किया जाएगा। इस संबंध में शीघ्र ही ग्राम प्रधानों, बीडीसी सदस्यों और अधिकारियों के साथ बैठक आहुति की जाएगी

जिला उपनिदेशक कृषि अरविंद मोहन मिश्रा ने बताया कि रूरल हब और तहसील के अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ समन्वय स्थापित कर सैटेलाइट से मृदा परीक्षण कर कार्बन क्रेडिट को बढ़ाने, जैविक खेती किसानी की दिशा में कार्य किया जा रहा है, उसको जिला के प्रत्येक ब्लॉक में किया जाएगा।

जिला संयोजक लोक भारती अतुल रस्तोगी ने बताया कि अमृत सरोवरों के चारों तरफ सघन वृक्षारोपण करने और उनके संरक्षण हेतु स्थानीय समिति बनाने, गौशालाओं में स्थानीय संगठनों के सदस्यों को गौशाला मित्र बनाने और गोकन गांव की गौशाला के चारों तरफ मियाबाक़ी तकनीक से वृक्षारोपण किया जाएगा, उन्होंने बताया कि रूरल हब की सलाहकार सेवा के माध्यम से गांव की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने, ऑनलाइन प्लेटफार्म उपलब्ध कराया जा जाएगा ताकि गांव के उत्पादों को वैश्विक बाजार उपलब्ध हो सके। इस बैठक में पसगवां ब्लॉक संयोजक सचेन्द्र वर्मा, पंकज मिश्रा, राम प्रताप सिंह, मोहम्मदी नगर संयोजक एडवोकेट राजेश राठौर, हरेंद्र कुमार सिंह ने सहभागिता की।

Related Articles

Back to top button
Close